15 साल पहले नीतीश कुमार पर किसी ने फेंका जूता, प्रशांत किशोर का कटाक्ष

15 साल पहले नीतीश कुमार पर किसी ने फेंका जूता, प्रशांत किशोर का कटाक्ष

बिहार: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर ताजा कटाक्ष करते हुए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने शुक्रवार को कहा कि किसी राज्य के गांव में सड़क नहीं बनी है क्योंकि किसी ने सीएम नीतीश पर जूता फेंका था।

किशोर ने राज्य के पश्चिमी चंपारण जिले में “जन सूरज” अभियान के दौरान नीतीश कुमार के खिलाफ यह टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर 15 साल पुरानी जूता फेंकने की घटना के कारण बिहार का गांव जिला मुख्यालय से जोड़ने वाली सड़क से वंचित हो गया है।

जोगापट्टी में ग्रामीणों के साथ बातचीत करते हुए, चुनाव रणनीतिकार, जो राज्य की 3,500 किलोमीटर लंबी “पद-यात्रा” पर हैं, ने कहा, “बेतिया शहर 32 किलोमीटर दूर है। गंदगी ट्रैक उन यात्रियों के लिए एक बुरा सपना है, जो यात्रा करने के लिए बाध्य हैं। नीतीश कुमार द्वारा जदयू में शामिल किए गए आईपीएसी के संस्थापक ने आरोप लगाया, “मुझे बताया गया था कि सड़क इसलिए नहीं बन रही है क्योंकि यहां किसी ने 15 साल पहले मुख्यमंत्री पर जूता फेंका था। अपराधी का आजतक पता नहीं चला, जिसके चलते पूरे क्षेत्र को दंडित किया जा रहा है। किशोर पर पलटवार करते हुए, जद (यू), जिस पार्टी के नीतीश कुमार वास्तविक नेता हैं, ने पूछा कि वह भाजपा को क्यों नहीं निशाना बना रहे हैं, जिसके पास राज्य में सड़क निर्माण विभाग का विभाग था, जब वह सत्ता में थी।

जद (यू) के राष्ट्रीय महासचिव अफाक अहमद ने कहा, “प्रशांत किशोर भाजपा के खिलाफ बोलने से इतना क्यों घबराते हैं, जिसने अब तक सीएम के कार्यकाल के एक बड़े हिस्से के लिए सड़क निर्माण विभाग का विभाग संभाला है।”

गौरतलब है कि अगस्त में बिहार में भाजपा ने सत्ता खो दी, जब सीएम नीतीश ने भगवा पार्टी से नाता तोड़ लिया और “महागठबंधन” के साथ एक नई सरकार बनाई जिसमें राजद, कांग्रेस और वामपंथी शामिल थे।

वहीं चिराग पासवान की पार्टी ने भी नीतीश पर वार करते हुए कहा की बिहार के मुख्यमंत्री जब जब बीजेपी से अलग हो कर सरकार बनाती है तब उनको विशेष राज्य का दर्जा याद आता है। यह सिर्फ जनता को ठगने के लिए ऐसा करते हैं।

Related posts

राहुल गांधी के मंच पर ‘जन गण मन’ की जगह नेपाल का राष्ट्रगान बजा- भाजपा ने किया प्रहार

Samdarshi Priyam

दलित मुसलमानों, ईसाइयों के लिए कोई एससी दर्जा नहीं: केंद सरकार का रुख स्पष्ट

Samdarshi Priyam

गुजरात विधानसभा चुनाव 2022: कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, आप पार्टी की दावेदारी मजबूत

Samdarshi Priyam

Leave a Comment