बिना इमली के सांभर कैसे बनेगा?

Sambar

सांभर बनाना है और घर में इमली नहीं है? फ़िक्र की कोई बात नहीं।  आज हम आपको बताएंगे की बिना इमली के स्वाद से भरपूर साम्भर कैसे बना सकते हैं।  अगर आपके मन में भी यही सवाल है की बिना इमली के सांभर कैसे बनेगा तो आप बिकुल सही जगह आये हैं।  

आज के समय में सांभर एक बहुत ही प्रचलित और सबसे ज़्यादा खाया जाने वाला व्यंजन है।  पहले के समय में  सांभर सिर्फ दक्षिणी भारत में बनाया जाता था क्योंकि साऊथ इंडियन लोग इसे खाना बहोत पसंद करते हैं और यह वहां का मुख्य वयंजन है। लेकिन आज के दौर में सांभर को पुरे भारत में बहुत ही ज़्यादा पसंद किया जाता है। 

पारम्परिक तरीके से सांभर बनाने के लिए इमली की आवश्यकता होती है लेकिन हम आपको एक ऐसी विधि बतायंगे जिससे आप बिना इमली के सांभर बना पाएंगे और आपको बिलकुल पारम्परिक सांभर वाला स्वाद आएगा।  तो चलिए शुरू करते हैं।  

बिना इमली के सांभर बनाने की विधि 

आज हम आपको सांभर बनाने की एक ऐसी रेसपी बताने जा रहे है जिसमे इमली का होना आवश्यक नहीं है।  आप बिना इमली के प्रयोग के भी बहुत ही स्वदिष्ट सांभर बना सकते हैं।  यह रेसिपी उन लोगों के लिए बहुत अच्छी और लाभदायक है जिनको इमली की खटास पसंद नहीं है या फिर उनको किसी भी कारन से इमली खाना मन है। कभी – कभी ऐसा भी होता है कि  हमें सांभर बनाना होता है लेकिन घर में इमली उपलभ्ध नहीं होती।  ऐसे समय में आप हमारी इस रेसिपी से बहुत इस स्वादिष्ठ और झटपट सांभर बना सकते हैं।  तो चलिए आप तैयार हो जाइये ये जानने के लिए कि बिना इमली के सांभर कैसे बनता है। 

बिना इमली के सांभर बनाने की सामग्री 

सांभर बनाने के लिए आप अपने स्वाद के अनुसार अपनी पसंद की कई सारी सब्ज़ियों का इस्तेमाल कर सकते है जैसे बैंगन ,आलू , लोकी , कद्दू , शकरगन्दि इत्यादि।  

सभी सब्ज़ियों का प्रयोग एक सामान मात्रा में ही करना चाहिए, जैसे सभी सब्ज़िया छोटे आकर में कटी हुई १ कप के अनुसार होनी चाहिए या प्रत्येक सब्ज़ी ५० ग्राम होनी चाहिए।  

सब्ज़ियां 

  • लौकी – १ कप 
  • कद्दू –    १ कप 
  • शकरगन्दि – १ कप 
  • गाजर – १ कप 
  • छोटे बेंगन – १ कप 
  • प्याज़ – २ मीडियम (छोटे टुकड़ो में कटी हुई )
  • देसी टमाटर – २ मीडियम (छोटे टुकड़ो में कटे हुए हुए )
  • अरहर /तुरहा की दाल – आधा कप ( आधे घंटे भिगोकर रखे ) 
  • निम्बू का रास  – २ निम्बू  

मसाले 

  • नमक – स्वादानुसार 
  • रेड मिर्च पाउडर – १ १/२  छोटा चम्मच 
  • आमचूर पाउडर – १/२  चम्मच 
  • सांभर मसाला – २  बड़े चम्मच 

तड़का सामग्री 

  • तेल – २ चम्मच ( नारियल तेल या कोई भी तेल जो आप इस्तेमाल करते है)
  • प्याज़ – १ छोटा ( बारीक़ कटा हुआ )
  • सरसो – १ छोटा चम्मच 
  • साबुत लाल मिर्च – ३ से ४ 
  • कड़ी पत्ता – १२ से १५ पत्तियाँ 
  • हींग – आधा छोटा चम्मच (पिसा हुआ )

बिना इमली के सांभर बनाने की रेसिपी 

नीचे दिए गए सब चरणों का अच्छे से पालन कर के आप बिना इमली के स्वादिष्ठ सांभर बना सकते हैं : 

१.  सबसे पहले आप एक कुकर लें और उस कुकर के अंदर तुरहा / अरहर की दाल जो आपने आधे घंटे भीगा कर रखी है, पानी से निकालकर कुकर में दाल दे।  

२ . अब आप दाल के अंदर सभी प्रकार की सब्ज़ियों को अच्छी तरह मिला दें। 

३. सब्ज़ियों को डालने क बाद आप कटे हुए प्याज़ और और कटे हुए देसी टमाटर को भी कुकर के अंदर दाल दें।   

४. इसके बाद आपने स्वादानुसार नमक , डेढ़ चम्मच लाल मिर्च पाउडर , और आधा चम्मच हल्दी पाउडर दाल दें।   

५ . इन सभी चीज़ो को मिक्स करने के बाद आप २ गिलास पानी कुकर में दाल कर अच्छी तरह मिक्स करदें।  पानी काम होने पर आप बाद में भी पानी की मात्रा बढ़ा सकते है !

 ६. इसके पश्चात् आप कुकर का ढ़क्कन लगाकर प्रेशर कुकर को हाई फ्लेम पर रख दें।   

७. एक सिटी आने के बाद आप चूल्हे की आंच को धीमा कर के कम से कम १० से १५ मिनट तक अच्छे से पकने दें।  

८. सांभर के अच्छे से पकने के बाद आप चूल्हा बंद करें और ५ से ७ मिनट बाद प्रेशर कुकर के ढ़क्कन को खोलें।  अब एक बड़े चम्मच की सहायता से सांभर के मिश्रण को चेक करें कि  सभी सब्ज़ियाँ और दाल अच्छे से गल गई है या नहीं।   

९ . यदि सांभर अच्छी तरह पक चूका है तो आप सांभर को पतला करने के लिए और पानी भी मिला सकते है।  

१० . अब आप सांभर के मिश्रण में २ चम्मच सांभर मसाला , आधा चम्मच अमचूर और नींबू का रस डाल दें।  इसके डालने से सांभर में खटास की मात्रा बढ़ जायगी और सांभर और ज़्यादा स्वादिष्ट बनेगा !

११. इसके बाद आप गैस को दोबारा लौ फ्लेम पर खोल दें और ४ से ५ मिनट सांभर को पकाएं ताकि सांभर मसाले , नींबू रस और आमचूर का टेस्ट सांभर में अच्छे से मिल जाये।   

सांभर में तड़का लगाने का तरीका 

सांभर के अच्छे से पक जाने के बाद उसको और भी अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए उसमे तड़का लगाना अति आवश्यक होता है।  आईये तड़का लगाना सीखें।   

१. सबसे पहले आप एक पैन लें और उसमे २ चम्मच नारियल या जो भी तेल आप इस्तेमाल करते है अच्छे से गर्म कर लीजिये।  

२. अब प्याज़ के टुकड़ो को ब्राउन होने तक फ्राई करे।  

३. इसके पश्चात् १ चम्मच सरसो , कड़ी पत्ता , पिसा हुआ हींग और और सुखी लाल मिर्च इसमें डाल दें।  

४. और आखिर में आप अच्छे से तड़के को फ्राई करके गैस बंद करदें।  

५. अब  इस तड़के के मिश्रण को प्रेशर कुकर का ढ़क्कन खोल कर डाल दें और तुरंत प्रेशर कुकर के ढक्कन को वापस बंद करके ३ से ४ मिनट तक बंद रहने दें।  

अब आप का बिना इमली वाला सांभर त्यार हो चूका है।  आप सांभर को इडली , डोसा या चावल के साथ भी परोस सकते है।

सांभर खाने के लाभ 

१. मांसपेशियों को स्वस्थ करता है 

सांभर में बहुत प्रकार की दालों का प्रयोग होता है इसलिए इसमें प्रोटीन की मात्रा भी बहुत अधिक होती है।  यह प्रोटीन मांसपेशियों को बनाने और रिपेयर करने में मदद करता है और स्वस्थ बनाये रखता है।  

२. साफ़ और सुन्दर त्वचा 

सांभर बनाए के लिए बहुत से मसाले और दालों का उपयोग होता है जिससे त्वचा को भरपूर प्रोटीन प्राप्त होता हिअ और साथ ही मसाले शरीर को डेटॉक्स करते हैं।  इससे त्वचा स्वच्छ और स्वस्थ बनती है साथ ही तव्चा से सम्बंधित बीमारियां भी दूर रहती हैं।  

३. कब्ज़ 

सांभर में फाइबर की अच्छी मात्रा होने के कारण यह उन लोगों के लिए बहुत लाभदायक है जिनको कब्ज़ की समस्या रहती है। सांभर के सेवन से पेट में गैस, पाचन और कब्ज़ की समस्या से आराम मिलता है।  

४. रोग प्रतिरोधक क्षमता 

सांभर में बहुत ज़्यादा मात्रा में विटामिन, प्रोटीन, और मिनिरल पाए जाते हैं जिसके कारण इसके सेवन से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और बीमारियां दूर रहती हैं।  

निष्कर्ष 

उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा बताई गई बिना इमली वाले सांभर बनाने की रेसपी पसंद आई होगी। इस रेसिपी से आप बिलकुल पारम्परिक स्वाद वाला सांभर बना सकते हैं वो भी बिना इमली का प्रयोग किये।  

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न 

प्र.१ क्या सांभर में चने की दाल का प्रयोग किया जा सकता है ? 

आप अपनी इच्छा अनुसार कोई भी दाल का प्रयोग कर सकते हैं।  

प्र.२ सांभर में भिंडी डाल सकते हैं ?

नहीं, सांभर में भिंडी का उपयोग नहीं किया जाता।  

प्र.३ अगर सांभर मसाला न हो तो क्या करें? 

सांभर मसाला डालना ज़रूरी है।  इसके बिना आपको अच्छा स्वाद नहीं आएगा।  

Related posts

तंदूरी चिकन के शौकीन हो जाएं सावधान! विशेषज्ञों का कहना है कि जले हुए मांस से इस तरह का हो सकता है कैंसर

Samdarshi Priyam

Leave a Comment